#SambhandoKeKinare by Simmi Harshita

सम्बन्धों के किनारे
सम्बन्धों के किनारे by सिम्मी हर्षिता

सिम्मी हर्षिता has just released her new book सम्बन्धों के किनारे 

 Sambhando Ke Kinare is the latest release by  www.amanprakashan.com

You can order your copy from here सम्बन्धों के किनारे

 

 

सम्बन्धों के किनारे
सम्बन्धों के किनारे by सिम्मी हर्षिता
सम्बन्धों के किनारे
सम्बन्धों के किनारे by सिम्मी हर्षिता

 

Simmi Harshita

Simmi Harshita

जन्म : 29 नवंबर, 1940, रावलपिंडी के निकट देवी (अविभाजित भारत)।
शिक्षा : हिंदी तथा समाजशास्त्र में एम.ए.।
व्यवसाय : लंबे अरसे तक अध्यापन से जुड़े रहने के बाद अब स्वतंत्र लेखन।
पहली कहानी ‘अपने-अपने दायरे’ 1969 में ‘संचेतना’ पत्रिका में प्रकाशित।
प्रकाशित कृतियाँ : कमरे में बंद आभास, धराशायी, तैंतीस कहानियाँ (पुरस्कृत), बनजारन हवा, इस तरह की बातें, प्रेम संबंधों की कहानियाँ, सिम्मी हर्षिता की लंबी कहानियाँ, चुनी हुई कहानियाँ।
उपन्यास : संबंधों के किनारे, यातना शिविर, रंगशाला, जलतरंग (पुरस्कृत)।
प्रथम दोनों उपन्यासों के पंजाबी में अनुवाद प्रकाशित—संबंधां दे कंडे-कंडे तथा तसीहेघर।
मेरे साक्षात्कार तथा कृति विमर्श।
विभिन्न  कृतियों  पर  एम.फिल.  तथा
पी-एच.डी., 1983 के विश्वपंजाबी लेखक सम्मेलन बैंकॉक (थाइलैंड) में भागीदारी।
विभिन्न कहानियों पर दूरदर्शन के लिए टेलीफिल्म का निर्माण।
सम्मान-पुरस्कार : पंजाब भाषा विभाग द्वारा वर्ष 1997 के श्रेष्ठ कथा-साहित्य के लिए ‘33 कहानियाँ’ संग्रह पुरस्कृत; हिंदी अकादमी दिल्ली द्वारा वर्ष 2006 का साहित्यकार सम्मान; उत्तर प्रदेश हिंदी संस्थान द्वारा वर्ष 2006 का सौहार्द सम्मान तथा ‘जलतरंग’ उपन्यास के लिए 2014 का कुसुमांजलि साहित्य सम्मान।

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s